किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना Kishore Vaigyanik Protsahan Yojana in Hindi

1. परिचय

किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना (KVPY) मूलभूत विज्ञान के क्षेत्रों में शिक्षावृति का एक राष्ट्रीय कार्यक्रम एवम राष्ट्रीय छात्रवृत्ति योजना है। जिसकी पहल एवं वित्त पोषण विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार द्वारा मूलभूत विज्ञान में अनुसंधान की दिशा में करियर जारी रखने के इच्छुक, असाधारण रूप से अभिप्रेरित विद्यार्थियों को आकर्षित करने के लिए की गई है। इस कार्यक्रम का उद्देश्य अनुसंधान के लिए आवश्यक प्रतिभा और अभिवृत्ति वाले विद्यार्थियों को पहचान कर, अध्धयन में उनकी प्रतिभा को पहचानने में मदद करना, विज्ञान में शोध को अपना करियर बनाने के लिए प्रोत्साहित करना और देश में अनुसंधान एवं विकास कार्य के लिए सर्वश्रेष्ठ वैज्ञानिक प्रतिभा का विकास सुनिश्चित करना है।

2. किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना KVPY चयन विज्ञापन

देश के सभी राष्ट्रीय दैनिक समाचार पत्रों में के.वी.पी.वाई. शिक्षावृत्ति के लिए विज्ञापन सामान्य रूप से प्रौद्योगिकी दिवस (11 मई) एवं जुलाई के दूसरे रविवार को प्रकाशित किया जाता है। अध्येताओं का चयन उन विद्यार्थियों में से किया जाता है, जो अभी ग्याहरवीं, बाहरवीं तथा स्नातक के प्रथम वर्ष (B.Sc./B.S./B.Stat./B.Math./ Int. M.Sc./M.S.) कक्षा में मूलभूत विज्ञान (गणित, भौतिकी, रसायन विज्ञान तथा जीव-विज्ञान) का अध्ययन  कर रहे हैं और वैज्ञानिक अनुसंधान के लिए अभिरुचि रखते हैं। भारतीय विज्ञान संस्थान, बेंगलुरु में गठित विशेष समितियां आवेदनों की छंटनी एवं देश में विभिन्न केंद्रों पर अभिक्षमता परीक्षा को संचालित करतीं हैं।

3. किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना के तहत शिक्षावृत्ति

शिक्षावृत्ति के वार्षिक नवीकरण हेतु के. वी. पी. वाई. योजना द्वारा प्रत्येक वर्ष में विज्ञान विषयों में प्रथम श्रेणी (60 प्रतिशत अंक) अथवा समतुल्य औसत ग्रेड (50 प्रतिशत अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी.) प्राप्त करना आवश्यक है। असफल विद्यार्थियों को शिक्षावृत्ति प्रदान नहीं की जाती। उपरोक्त के अतिरिक्त प्रथम वर्ष में क्षेत्रीय विज्ञान शिविर में भागीदारी एवं संतोषजनक प्रदर्शन और तत्पश्चात प्रथम पर्श ग्रीष्मकालीन योजना में भाग लेना शिक्षावृत्ति के नवीकरण के लिए अनिवार्य है।

4. KVPY के लिए योग्यता

यह शिक्षावृत्ति भारत में अध्ययन के लिए केवल भारतीय नागरिकों को दी जाती है| वे विद्यार्थी जो दूरस्थ शिक्षा कार्यक्रम के अंतर्गत अध्ययन कर रहे है अथवा करने के इच्छुक है इसके लिए योग्य नहीं है| विद्यार्थीगण, जो प्रथम वर्ष स्नातक (B.Sc./B.S./B.Stat./ B.Math./Int. M.Sc./Int. M.S.) में मूलभूत विज्ञान के विषयों, जैसे रसायन विज्ञान, भौतिक विज्ञान, गणित, सांख्यिकी, जैव-रसायन, सूक्ष्म जीव विज्ञान, कोशिका जीव विज्ञान, पारिस्थतिकी विज्ञान, आण्विक जीव विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, प्राणी शास्त्र, शरीर विज्ञान, जैव प्रौद्योगिकी, स्नायु विज्ञान, जैव सूचना विज्ञान, समुद्री जीव विज्ञान, भूविज्ञान, मानवजीवन विज्ञान, अनुवांशिकी, जैव चिकित्सा विज्ञान, अनुप्रयुक्त भौतिकी, भू-भौतिकी अथवा पर्यावरण विज्ञान का अध्यन करते है|

5. एस. ए. वर्ग

कक्षा XI की प्रमाणिक परीक्षाओं (विज्ञान वर्ग) में नामांकित विद्यार्थी, जिन्हें कक्षा X के मान्य बोर्ड में गणित एवं विज्ञान के विषयों में कुल मिलाकर न्यूनतम 75 % (अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी. वर्ग के लिए 65 %) अंक प्राप्त है| के.वी.पी.वाई. शिक्षावृत्ति प्राप्त छात्रों को प्रथम वर्ष में प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा एवं XII (+2) 60 % (अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी. वर्ग के लिए 50 %) अंक से उतीर्ण करने के पश्चात मूलभूत विज्ञान के विषयों में स्नातक (B.Sc./B.S./B.Stat./B.Math./Int. M.Sc./Int. M.S.) के लिए नामांकन कराने पर शिक्षावृत्ति प्रदान की जायेगी| एक वर्ष के प्रशिक्षण के दौरान छात्रों को राष्ट्रीय विज्ञान शिविरों में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया जाएगा एवं उनकी यात्रा और संबंधित खर्चों का वहन के. वी. पी. वाई. करेगा|

6. एस. एक्स. वर्ग

कक्षा XII (+2) (विज्ञान वर्ग) में विज्ञान स्नातक (B.Sc./B.S./B.Stat./ B.Math./Int. M.Sc./Int. M.S.) में प्रवेश पाने के इच्छुक विद्यार्थी, जिन्होंने कक्षा X की प्रमाणिक परीक्षा में गणित तथा विज्ञान में कुल मिलाकर न्यूनतम 75 % (अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी. वर्ग के लिए 65 %) अंक प्राप्त किये है| चयनित होने पर, शिक्षावृत्ति प्राप्त करने के लिए उन्हें गणित तथा विज्ञान के विषयों (भौतिकी, रसायन एवं जीव-विज्ञान) में XII में न्यूनतम 60% (अ.जा./अ.ज.जा./पी.डब्लू.डी. वर्ग के लिए 50 %) अंक प्राप्त करना होगा|

चयन प्रक्रिया

7. अभिक्षमता परीक्षा

आवेदन पत्रों की नियमानुसार छंटनी के पश्चात सभी योग्य विद्यार्थियों को रविवार को देश भर के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित एक  अभिक्षमता परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा|

8. अभिक्षमता परीक्षा भाषा

अभ्यर्थी अभिक्षमता परीक्षा के लिए अंग्रेज़ी या हिंदी भाषा में से किसी एक का चयन कर सकते है|

9. एडमिट कार्ड के. वी. पी. वाई

पात्र विद्यार्थियों की अभिक्षमता परीक्षा के परीक्षा स्थान व सीट संख्या को के. वी. पी. वाई. के वेबसाइट पर डाल दिया जाएगा|

10. साक्षत्कार

अभिक्षमता परीक्षा में योग्यता के आधार पर चयनित विद्यार्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया जाएगा| यह (साक्षात्कार) चयन प्रक्रिया का अंतिम चरण होगा|

Army Recruitment Important Notice to Join Indian Army 2021-2022

Latest Defence Job Notification 2021-2022Important Notice/ Complete Defence Job Info
UP Anganwadi Bharti 2021 All DistrictsClick Here
UP Safayee Karmy Bharti 2021Click Here
UP Army Bharti Program 2021Click Here
Gram Sachivalaya Bharti Program 2021Click Here
Indian Navy 10th Pass Apply MR 2021Click Here
BSF, CISF, CRPF, SSB, ITBP, AR, NIA, SSF -SSC GD Constable Bharti 2021 Apply for 25271 PostClick Here
All India UHQ & Sports Open Army Rally Program July to Dec 2021-2022CLICK HERE
Kisan Helpline NoClick Here
Across India Army Recruitment Rally July 2021 to March 2022 ProgramClick Here
TA Rally Bharti 2021 all ZonesClick Here
Latest Govt Jobs 2021-2022 on website www.kikali.inClick Here
Helpline Numbers Online Registration of Application to Join Indian Army JCOs/OR 2021-2022Click Here
Rally Program 2021-2022 Indian Army State WiseClick Here
Top 10 Highest Paying Jobs in India 2021Click Here
Top 10 Banking Jobs 2021Click Here
Government Schemes 2021-2022Click Here
How to Clear Police Medical Recruitment Test 2021Click Here
Pay & Allowance Indian ArmyClick Here
आर्मी भर्ती परीक्षा 2021 की सूचना:सोल्जर जीडी, सोल्जर (टेक्निकल), सोल्जर टीडीएन 10वीं और 8वीं, सोल्जर (एनए/वीईटी), सोल्जर (सीएलके/एसकेटी) और सोल्जर फार्मा के लिए सामान्य प्रवेश परीक्षा (सीईई) का आयोजन ज्वाइन इंडियन आर्मी के के निर्देशानुसार किया जायेगा जाएगा।

सरकारी योजनायें  की  सम्पूर्ण जानकारी के लिए नीचे सम्बंधित विषय पर क्लिक करें 

Sarkari Labhkari Yojana 2021-2022

 

2 Comments

  1. shreayansh chhipa
    • S. N. Yadav

Add Comment