भूतपूर्व सैनिक रोजगार गाइड बुक Bhutpurv Sainik Rojgar Guide Book in Hindi

एक्स सर्विसमैन सेलेटलमेंट गाइड बुक: देश के लाखों सैनिक प्रति वर्ष सेना की गौरवमई परम्परा का दाइत्व निभाते हुए 35 से 50 वर्ष की आयु में सेवा निवृत्त हो जाते हैं, जब की अन्य राज्य एवम केंद्र सरकार की नौकरियों में सेवा की अवधि 60 वर्ष की आयु तक होती है। सेना में 90% जवान ग्रामीण अंचल से भर्ती होते हैं। सही जानकारी के आभाव में इन सैनिकों को सेना से रिटायर होने के बाद दुबारा सेटल होने के लिए बहुत ही परेशानी का सामना करना पड़ता है। सेवा निवृत्त सैनिकों के लिए केंद्र सरकार, राज्य सरकार एवं गैर सरकारी संस्थायें नौकरियों में आरक्षण के साथ साथ अन्य रोजगार सम्बन्धी लाभकारी योजनाएं चला रहीं हैं, जिसकी जानकारी सेना से रिटायर होने वाले एवं सेवानिवृत्त सैनिकों को अवश्य होनी चाहिए। Resettlement Guide for Ex-servicemen/ Employment Guide for Ex Army, Ex Navy, Ex Air Force Retired Persons.

भूतपूर्व सैनिकों की समस्याएँ Problems Faced by Ex Servicemen: जवानी में ही सेवामुक्त होने के कारण एवं अपने समाज से वर्षों दूर रहने के कारण भूतपूर्व सैनिकों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है जैसे बच्चों की शिक्षा, परिवार की देखभाल, माकान, पुनः रोजगार, बच्चों की शादी विवाह आदि सामाजिक एवं आर्थिक समस्यों का सामना करना पड़ता है। सेना से सेवा मुक्त होने वाले एवं सेना सेवा मुक्त हो चुके सैनिकों के लिए यह “भूतपूर्व सैनिक सेटलमेंट गाइड बुक” बहुत ही लाभकारी सिद्ध हो सकती है।

जिला सैनिक कल्याण कार्यालय / जिला सैनिक बोर्ड की जिम्मेदारियां

One Response

  1. Acharayapnditsundarlalsodhiyal Shastri

Add Comment