स्टाफ नर्स परीक्षा पाठ्यक्रम 2021 Staff Nurse Exam Syllabus, Pattern in Hindi

स्टाफ नर्स परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम 2021-Staff Nurse Exam Pattern & Syllabus 2021

स्टाफ नर्स परीक्षा पैटर्न योजनापरीक्षा विषय प्रश्नो की संख्या
1.सामान्य ज्ञान30 प्रश्न
2.सामान्य हिंदी 20 प्रश्न
3.मुख्य विषय नर्सिग 120 प्रश्न
कुल प्रश्न 170 प्रश्न
प्रश्न के प्रकार वस्तुनिष्ठ
परीक्षा अवधि समय 02 घंटे 120 मिनट
पूर्णाक 85 अंक

स्टाफ नर्स भर्ती परीक्षा पाठ्यक्रम २०२१-Staff Nurse Recruitment Exam Syllabus 2021

Index of Content

सामान्य ज्ञान परीक्षा पाठ्यक्रम स्टाफ नर्स भर्ती

General Knowledge Exam Syllabus Staff Nurse Recruitment

भारत का इतिहास एवं भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन 

History of India and Indian National Movement

1. भारतीय इतिहास के अंतर्गत सामाजिक, आर्थिक, एवं राजनितिक पक्षों की सामान्य जानकारी पर महत्व होगा। भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन पर अभ्यर्थियों से स्वतंत्रता आंदोलन, राष्ट्रीयता का अभुदय तथा स्वतंत्रता प्राप्ति के सम्बन्ध में सरपरक जानकारी अपेक्षित है।

भारत एवं विश्व का भूगोल, भारत और विश्व का भौतिक, सामाजिक, आर्थिक भूगोल

Geography of India and the World Physical, Social, Economic Geography of India and the World

2. भारत के भूगोल के अंतर्गत देश के भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल से संबंधित प्रश्न होंगे। विश्व भूगोल में विषय की केवल सामान्य जानकारी अपेक्षित होगी।

भारतीय राजनीति एवं शासन, संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोकनीति एवं, आधिकारिक मुद्दे आदि

3. भारतीय राजनीति एवं शासन के अंतर्गत देश के संविधान, पंचायती राज और सामुदायिक विकास सहित राजनीतिक प्रणाली के ज्ञान से सम्बंधित प्रश्न होंगे।

भारतीय अर्थव्यवस्था एवं सामाजिक विकास

4. अभयर्थियो के जनसंख्या, पर्यावरण, तथा शहरीकरण से सम्बंधित समस्याओ एवं पारस्परिक सम्बन्ध, भारतीय आर्थिक नीति एवं भारतीय संस्कृति के व्यापक स्वरुप के ज्ञान का परीक्षण किया जायेगा।

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्व की समांयिक घटनाएं

5. इसमें खेलकूद के प्रश्न भी सम्मिलित होंगे।

भारतीय कृषि

6. भारतीय कृषि  भारत में कृषि, कृषि उत्पाद और उसके विपणन के सम्बन्ध में सामान्य जानकारी की अपेक्षा अभयर्थियो से होगी।

सामान्य विज्ञान

7. सामान्य विज्ञान  सामान्य विज्ञान के प्रश्न दैनिक अनुभव तथा प्रेक्षण से सम्बंधित विषयो सहित विज्ञान के सामान्य परिबोध और जानकारी पर आधारित होंग, जिसकी ऐसे किसी भी सुरक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जा सकती है। जिसने वैज्ञानिक विषयो का विशेष अध्ययन नहीं किया है। इसमें भारत के विकास में विज्ञान और प्रौद्योगिकी की भूमिका से सम्बंधित प्रश्न भी होंगे।

प्रारंभिक गणित हाई स्कूल स्तर तक

8. प्रारंभिक गणित हाई स्कूल स्तर तक – अंकगणित, बीजगणित और रेखागणित।

अभ्युक्ति

9. अभ्युक्ति – अभ्यर्थियों से यह अपेक्षित होगा की उत्तर प्रदेश परिप्रेक्ष्य में उपरोक्त विषयों के बारे में सामान्य परिचय हो।

सामान्य हिंदी

  • सामान्य हिंदी भाग में अभ्यर्थियों से हिंदी भाषा के ज्ञान, समझ तथा लेखन योग्यता संबंधी प्रश्न पूछे जाएंगे। यह भाग उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाई स्कूल परीक्षा अथवा समकक्ष परीक्षा के स्तर का होगा।

मुख्य विषय सामान्य हिंदी स्टाफ नर्स भर्ती

  • विलोम
  • वाक्य एवं वर्तनी शुद्धि
  • अनेक शब्दों के एक शब्द
  • तत्सम एवं तदभव शब्द
  • विशेष्य और विशेषण
  • पर्यायवाची शब्द
  • सामान्य हिंदी स्टाफ नर्स परीक्षा में आने वाले टॉपिक्स अलंकार, रस, समास, पर्यायवाची, विलोम, तत्सम एवं तदभव, सन्धियां, वाक्यांशों के लिए शब्द निर्माण, लोकोक्तियाँ एवं मुहावरे, वाक्य संशोधन – लिंग, वचन, कारक, वर्तनी, त्रुटि से सम्बंधित अनेकार्थी शब्द।

नर्सिंग परीक्षा पाठ्यक्रम 2021

एनाटॉमी एंड फिजियोलॉजी

1. एनाटॉमी एंड फिजियोलॉजी. कंकाल तंत्र, मांसपेशी प्रणाली, ह्रदय रक्त संचार तंत्र, श्वसन तंत्र, पाचन तंत्र, तंत्रिका तंत्र, अन्तः स्रावी तंत्र, प्रजनन तंत्र और इन्द्रिया।

नर्सिंग की बुनियादी बाते

2. नर्सिंग की बुनियादी बाते. एक पेशे के रूप में नर्सिंग, चिकित्सीय वातावरण का रखरखाव, नर्सिंग प्रक्रिया और नर्सिंग देखभाल योजना, एक रोगी का भर्ती करना और अस्पताल से छुट्टी करना, मरने वाले रोगी, आरोग्य विषयक आवश्यकताएं और शारीरिक क्रिया विषयक आवश्यकताएं, गतिविधि और व्यायाम, सुरक्षा संबंधी आवश्यकताए, उतसर्जन विषयक आवश्यकताएं एवं विशेष परिस्थितियों में देखभाल, पोषण संबंधी जरूरतों की पूर्ति, रोगी का अवलोकन, उपकरणों की देखभाल, संक्रमण रोगी परिचर्चा,दवाइयाँ देना, रिकॉर्डिंग और रिपोर्टिंग।

प्राथमिक चिकित्सा

3. प्राथमिक चिकित्सा. प्राथमिक चिकित्सा के अर्थ और नियम आपात स्थिति जैसे: आग, भूकंप, अकाल, अस्थि भंग, दुर्घटना, जहर, डूबना, रक्तस्राव होना, कीड़े का काटना, विदेशी संस्थाएं, घायलों का स्थानांतरण, पट्टी बांधना और खपच्ची बांधना, नर्स की तत्काल और बाद की भूमिका।

मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग

4. मेडिकल सर्जिकल नर्सिंग. मेडिकल और सर्जिकल चिकित्सा की स्थापना में नर्स की भूमिका और जिम्मेदारियां। सर्जिकल रोगी की देखभाल, एनेस्थीसिया (निश्चेतना)। ह्रदय रक्त संचार तंत्र, पाचन तंत्र, जनन एवं मूत्र प्रणाली, तंत्रिका तंत्र के रोग, श्वसन तंत्र, मांसपेशी, हाड़ पिंजर प्रणाली के विकार और रोग। रक्त विकार और रक्त ट्रांसफ्यूजन (चढ़ना) अन्तः स्रावी तंत्र, मेटाबोलिक सम्बंधित विकार एवं कमी से होने वाली बीमारिया व श्राव की अधिकता और अल्पता, गाँठ ट्यूमर, मधुमेह, मोटापा, गठिया, त्वचा, कान, नाक और गले के रोग, नेत्र रोग विकार, सघन चिकित्सा नर्सिंग, सामान्य कमी के कारन होने वाले रोग, भारत में पाए जाने वाले प्रारंभिक लक्षण, रोकथाम और उपचार।

संचारी रोग

5. संचारी रोग: वायरस, बैक्टेरिया, जुनोसेस, और मच्छर।

मनोरोग नर्सिंग

6. मनोरोग नर्सिंग – परिचय, सामुदायिक जिम्मेदारी, निदान, प्रबंधन और नर्स की भूमिका।

दायिक स्वास्थ्य नर्सिंग

7. सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग.  अवधारणा, सामुदायिक स्वास्थ्य की परिभाषा, संस्थागत और सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग में अंतर, सामुदायिक स्वास्थ्य नर्सिंग की विशेषताएं और कार्य, सामुदायिक स्वास्थ्य, नर्सिंग के पहलू, जनसांख्यिकी और परिवार कल्याण, स्वास्थ्य दल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र (सी० एच० सी०), प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र (पी० एच० सी०) तथा उपकेंद्र की सरंचना, विभिन्न स्तरों पर नर्सिंग कर्मियों की भूमिका, पुरुष और महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता, स्वास्थ्य पर्यवेक्षक, सार्वजनिक स्वास्थ्य नर्स, सार्वजनिक स्वास्थ्य सुपरवाइजर, महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सांख्यिकी, स्वास्थ्य शिक्षा और संचार कौशल।

मिडवाइफरी और गायनोकोलॉजिकल नर्सिंग

8. मिडवाइफरी और गायनोकोलॉजिकल नर्सिंग- प्रस्तावना और परिभाषा, सामान्य गर्भावस्था, प्रसव पूर्व देखभाल, गर्भावस्था में आहार से सम्बंधित सलाह एवं देखभाल, प्रसवपूर्व व्यायाम, गर्भावस्था के मामूली विकार और परेशानी का निवारण, गर्भावस्था से जुड़े रोग, सामान्य प्रसव की तैयारी, सामान्य प्रसव का पहला चरण, दूसरा चरण और तीसरा चरण, शिशु और जन्म का नर्सिंग प्रबंधन, प्रसव के दौरान मां का नर्सिंग प्रबंधन, गर्भावस्था की जटिलता और इसका प्रबंधन, उच्च जोखिम वाली गर्भावस्था और इसका प्रबंधन, प्रसव संबंधी जटिलताएं, प्रसवोत्तर की जटिलताएं और इसका प्रबंधन, प्रसूति संचालन प्रसूति, दाई और स्त्री रोग नर्सिंग से संबंधित नैतिक और कानूनी पहलुओं, प्रजनन क्षमता और बांझपन रोग, स्तन एवं महिला प्रजनन प्रणाली के विकार।

बाल नर्सिंग

9. बाल नर्सिंग – बाल स्वास्थ्य देखभाल और बच्चे की देखभाल में बाल नर्स की भूमिका एवं संकल्पना, स्वस्थ बच्चा, शिशु, शिशुओं के विकार, मान्यता और जन्मजात विसंगतियों का प्रबंधन, स्तनपान, ठोस आहार, प्रसव शल्य क्रिया के पूर्व और बाद की देखभाल, नवजात शिशु की शल्य चिकित्सा के लिए माता-पिता की तयारी, बच्चों रोग, कारण, संकेत और लक्षण, चिकित्सा और सर्जिकल प्रबंधन, नर्सिंग देखभाल, जटिलता, आहार, और दवा चिकित्सा, रोगों सम्बंधित रोकथाम और उपचार, बचाव एवं चिकित्सा, पाचन तंत्र प्रणाली, श्वसन प्रणाली, जनन मूत्र प्रणाली, ह्रदय रक्त परिसंचरण तंत्र, तंत्रिका तंत्र, आंख और कान, पोषण संबंधी विकार, संचारी रोग, रक्त विकार, अंतःस्रावी विकार, बाल स्वास्थ्य आपात स्थिति, मनोवैज्ञानिक विकार समस्याएं और विकलांग बच्चे।

व्यवसायिक रुझान एवं समायोजन

10. व्यवसायिक रुझान एवं समायोजन – परिभाषा और नर्सिंग पेशे के मानदंड: परिभाषा और नर्सिग पेशे के मानदंड, एक पेशेवर नर्स के गुण, व्यक्तिगत पेशेवर विकास और नर्सिग में कैरियर, व्यावसायिक और सम्बंधित संगठन अंतराष्ट्रीय कौंसिल ऑफ नर्स (आई० सी० एन०), भारतीय नर्सिंग परिषद (आई० एन० सी०), राज्य नर्सिंग परिषद, विश्व स्वास्थ्य संगठन, यूनिसेफ, प्रशिक्षित नर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (TNAI), रेड क्रॉस, नर्सिंग में कानून।

माइक्रोबायोलॉजी

11. माइक्रोबायोलॉजी – नर्सिंग में माइक्रोबायोलॉजी के ज्ञान की उपयोगिता एवं सम्भावनाये, महत्त्व, माइक्रोबायोलॉजी का वर्गीकरण, संक्रमण विकास को प्रभावित करने वाले कारक, संक्रमण के स्रोत, सूक्ष्मजीवो के प्रवेश और निकास के द्वार, संक्रमण का संचरण, नमूनों का संग्रह करना और नमूना संग्रहण करते समय ध्यान में रखे जाने वाले सिद्धांत, प्रतिरक्षा, सूक्ष्म जीवों का नियंत्रण और विनाश

मनोविज्ञान

12. मनोविज्ञान परिभाषा, नर्सों के लिए महत्व एवं अवसर, मानव व्यवहार का मनोविज्ञान: भावनाएं, दृष्टिकोण, निराशा और रक्षा तंत्र, व्यक्तित्व, खुफिया और संबंधित कारक, सीखना और अवलोकन।

समाजशास्त्र

13. समाजशास्त्र – नर्सिंग में समाजशास्त्र का महत्व, समुदाय का सामाजिक, सांस्कृतिक और आर्थिक पहलूओ का स्वास्थ्य और बीमारी में उनके प्रभाव, परिवार: सामाजिक संस्था और स्वास्थ्य सेवा के लिए परिवार एक बुनियादी इकाई, परिवार की बुनियादी जरूरतें, नियोजित पितृत्व के लाभ, समाज: समाज की अवधारणा, ग्रामीण और शहरी समाज, सामाजिक समस्याएं, अविवाहित माताएं, दहेज प्रथा, नशीली दवाओं की लत, शराब, अपराध, विकलांग, बाल शोषण, घरेलू हिंसा, महिला दुर्व्यवहार, सामाजिक सस्थाएं और उपचारात्मक उपाय, अर्थव्यवस्था: देश के संसाधन – प्राकृतिक, व्यावसायिक, कृषि, औद्योगिक आदि, सामाजिक सुरक्षा: जनसंख्या विस्फोट – अर्थव्यवस्था पर इसका प्रभाव और जनसंख्या नियंत्रण के लिए आवश्यकता, एक परिवार के लिए बजट, प्रति व्यक्ति आय और स्वास्थ्य और बीमारी पर इसका प्रभाव।

व्यक्तिगत स्वच्छता

14. व्यक्तिगत स्वच्छता – स्वास्थ्य की देखभाल, शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य।

पर्यावरण स्वच्छता

15. पर्यावरण स्वच्छता – जल: सुरक्षित और स्वस्थ जल, जल का उपयोग, जल प्रदूषण, जल जनित रोग और जल शोधन। वायु: वायु प्रदूषण, वायु प्रदूषण की रोकथाम और नियंत्रण। अपशिष्ट: इन कचरे का कचरा, मलमूत्र, सीवेज, स्वास्थ्य संबंधी खतरे कचरे का संग्रह, निष्कासन और निपटान, आवासीय शोर।

नर्सिंग में कंप्यूटर

16. नर्सिंग में कंप्यूटर – डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम, नर्सिंग में कंप्यूटर का उपयोग, नर्सिंग में इंटरनेट और ईमेल।

Staff Nurse Bharti Programme 2021  –  Click Here

Nursing Pariksha Pathyakram & Nursing Test Syllabus

स्टाफ नर्स टेस्ट विषय:  इतिहास, संस्कृति, स्मारक, भूगोल, सामान्य विज्ञान, करंट अफेयर्स और उत्तर प्रदेश के जीके, भारतीय राजनीति।

Main Subject: उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग स्टाफ नर्स महिला और पुरुष परीक्षा पैटर्न एवं परीक्षा पाठ्यक्रम UPSSC- Uttar Pradesh Public Service Commission Staff Nurse Female & Male Exam Pattern & Exam Syllabus (UPSSC Syllabus)

UPPSC Staff Nurse Bharti Exam Syllabus and Pattern 2021. Staff Nurse Written Exam Syllabus UPPSC 2021. Likhit Pariksha Pathyakram Staff Nurse Bharti UPPSC 2021.

 

Add Comment