सैनिक अधिकारियों के लिए वेतन भत्‍ता/सुविधाएं

Army Officers

आर्थिक स्थिरता

छठे वेतन आयोग के फलस्‍वरूप, सैन्‍य कर्मियों के वेतन में वृद्धि हुई। वहीं, सेना अधिकारियों का वेतन और भत्‍ता, अन्‍य केन्‍द्रीय सरकारी सेवाओं के समतुल्‍य, सतही तौर पर प्रतीत हो सकता है और कॉरपोरेट सेक्‍टर के द्वारा पेशकश की तुलना में कम हो सकता है; अनुलाभ के जीवन और गैर- स्‍फीति विषयक की गुणवत्‍ता, जिसमें सेना को अधिक श्रेष्‍ठ अन्‍य सेवाएं पेश की जाती हैं। सरकारी नौकरी, आपको कई छुपे हुए अनुलाभों का अधिकार देती है जिन्‍हे आप पारिश्रमिक की गणना करने के दौरान परिमाणित नहीं कर सकते हैं। सामान्‍यत: सेना में कुल 61 प्रकार की सुविधाएं, लाभ और भत्‍ते दिए जाते हैं। वास्‍तव में, अगर कोई सेना में इन सेवाओं के बगैर नौकरी करें, या इसी वेतन के समकक्ष कोई प्राईवेट नौकरी करें, तो ”कम्‍पनी की लागत” के आधार पर आप यह देखकर चकित हो जाएंगे कि सेना के कर्मी को प्राईवेट नौकरी वाले कर्मी की अपेक्षा कहीं ज्‍यादा मिलता है।

कुछ अनुलाभ, जो नकदी के मामले में परिमाणित नहीं होते हैं और मुद्रास्‍फीति के लिए प्रतिरक्षित होते हैं, लेफ्टिनेंट के मामले में अनुकरणीय होते हैं जो कि शुरूआती रैंक है।

  • शुरूआती वेतन 15600/- से 39100/- रूपए प्रतिमाह
  • ग्रेड वेतन 5400/- रूपए
  • सैन्‍य सेवा वेतन 6000/- रूपए
  • किट रखरखाव भत्‍ता 400/- रूपए प्रतिमाह
  • परिवहन भत्‍ता 1600/- से 3200/- रूपए प्रतिमाह
  • कार्य क्षेत्र भत्‍ता मूल वेतन 6780/- रूपए का 25 प्रतिशत रूपए – प्रतिमाह
  • आतंकवाद विरोधी 6300/- रूपए – प्रतिमाह
  • उच्‍च ऊंचाई / अननुकूलन जलवायु 5600/- रूपए – प्रतिमाह
  • सियाचिन 14000/- रूपए – प्रतिमाह
  • फ्लाइंग वेतन 9000/- रूपए – प्रतिमाह
  • पैराशूट वेतन 1200/- रूपए – प्रतिमाह
  • विशेष बलों 9000/- रूपए – प्रतिमाह
  • वीरता पुरस्‍कार
  • तकनीकी वेतन
  • जीवनपर्यन्‍त पेंशन
  • योग्‍यता वेतन / सर्विस कोर्स के लिए अनुदान 6000/- रूपए प्रतिमाह से 20,000/- रूपए प्रतिमाह
  • कपड़ा भत्‍ता नवीकृत प्रत्‍येक तीन वर्ष में 14000/- रूपए प्रांरभिक 3000/- रूपए
  • हक़दार (अधिकारी) राशन
  • सलाना छुट्टी दो महीने और आकस्मिक अवकाश 20 दिन
  • हवाई यात्रा पर 50 प्रतिशत की छूट
  • ट्रेन की यात्रा साल में एक बार नि:शुल्‍क और अन्‍य यात्राओं के लिए सब्सिडी, एलटीसी
  • आधुनिक उपकरण युक्‍त सैन्‍य अस्‍पताल में सेना कर्मी और उसके परिवारीजनों का नि:शुल्‍क इलाज
  • देश भर में स्‍वच्‍छ छावनियों में रियायती आवास
  • कार और एसीएस सहित अन्‍य वस्‍तुओं की खरीद पर सब्सिडी के लिए कैंटीन सुविधाएं
  • रियायती प्रीमियम पर 50 लाख रूपए का बीमा कवर
  • महानगरों सहित शहरों में ग्रुप हाउसिंग योजनाएं
  • कम ब्‍याज ऋण
  • इच्छित स्‍टेशनों में अलग परिवार आवास
  • अंतिम वेतन तक 300 दिनों तक अवकाश का नकदीकरण
  • पूर्ण भुगतान और सभी लाभों के साथ 2 साल तक अध्‍ययन अवकाश
  • विदेश तैनाती

उपरोक्‍त सुविधाएं, सेवा शर्तों और योग्‍यता अर्जित करने वाले सैन्‍य कर्मियों को प्रदान की जाती हैं। आईएमए और ओटीए के कैडेट्स, एमसीएमई और सीएमई के कैडेट प्रशिक्षण विंग एवं एमसीटीई को निश्चित वजीफे के रूप में 21000/- रूपए प्रतिमाह प्राप्‍त होते हैं।

सेवानिवृत्ति के बाद मिलने वाली सुविधाएं:

  • अंतिम वेतन स्‍केल का 50 प्रतिशत पेंशन के रूप में
  • मृत्‍यु-कम-सेवानिवृत्ति उपदान
  • आश्रितों सहित नि:शुल्‍क चिकित्‍सा उपचार
  • पूर्व की भांति ही कैंटीन की सुविधाएं
  • बीमा कवर
  • पुनर्वास के सुनहरे अवसर
  • सेवानिवृत्त अधिकारियों के लिए एमबीए कार्यक्रम

सुविधाएं

सामान्‍यत: भारतीय सेना में कुल 61 प्रकार की सुविधाएं, लाभ और भत्‍ते दिए जाते हैं। वास्‍तव में, अगर कोई सेना में इन सेवाओं का लाभ उठाएं बिना नौकरी करें, या इसी वेतन के समकक्ष कोई प्राईवेट नौकरी करें, तो ”कम्‍पनी की लागत” के आधार पर आप यह देखकर चकित हो जाएंगे कि सेना के कर्मी को प्राईवेट नौकरी वाले कर्मी की अपेक्षा कहीं ज्‍यादा वित्‍त लाभ मिलता है।

सातवें वेतन आयोग का गठन सरकार के द्वारा पहले से ही कर दिया गया है और सभी के‍न्‍द्रीय सरकार कर्मचारियों के वेतनमानों को 01 जनवरी 2016 से बढ़ाकर देने को संशोधित किया जाएगा और जब सातवें वेतन आयोग की अनुशंसा के लिए सरकार अंतिम निर्णय ले लेगी और इसे स्‍वीकृति प्रदान कर देगी, तो उपरोक्‍त वेतन / अनुलाभ में पर्याप्‍त वृद्धि की उम्‍मीद की जा सकती है।